7. पाचन तन्त्रा (Digestive System)

पाचन तन्त्रा (Digestive System) Why the digestive system : The food that we eat cannot be utilized as such in the body. It must be changed into a soluble absorbable form to get absorbed by the blood for distribution in the body. Certain foods, like cane-sugar are already soluble in water, but they require a Read More

Bookmark(0)

6. पोषण (Nutrition)

पोषण (Nutrition) सभी जीवधारियों को अपने शरीर के निर्माण के लिए तथा विभिन्न जैविक क्रियाओं के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है। यह ऊर्जा उन्हें भोजन से प्राप्त होती है जिसमें पोषक तत्व होते हैं। जीवों द्वारा भोजन को प्राप्त करने की प्रक्रिया को पोषण कहते हैं। पोषण की मुख्यतः तीन प्रकार हैं। A. स्वपोषण(Autotrophic): Read More

Bookmark(0)

5. पौधें का आकारिकी (Morphology of Plants)

पौधें का आकारिकी (Morphology of Plants) Morphology का संबंध शारीरिक आकार के अध्ययन से है। पौधों के विभिन्न अंगों जैसे, जड़ों, तनों, पत्तियों, पुष्पों, फलों व बीजों आदि की रचना व उनके विकास का अध्ययन पादप आकारिकी कहलाता है। पुष्पीय पौधे के विभिन्न अंग जड़ या मूल(Root): प्रायः पौधे की मुख्य अक्ष का भूमिगत भाग Read More

Bookmark(0)

4. ऊतक (Tissue)

Bookmark(0)

3. जीवधरियों का वर्गीकरण (Classification of living thing)

जीवधरियों का वर्गीकरण (Classification of living thing) 1969 में व्हिट्ट्टेकर(Whittaker) में समस्त जीवों को निम्नलिखित पांच जगत में वर्गीकृत किया : A. मोनेरा (MONERA) B. प्रोटिस्टा (PROTISTA) C. पादप (PLANTAE) D. कवक (FUNGI) E. जन्तु (ANIMALS) A. मोनेरा (MONERA) : इस जगत में सभी Prokaryotic जीवों को सम्मिलित किया जाता है। इसके जीव सूक्ष्मतम तथा Read More

Bookmark(0)

2. कोशिका विभाजन(Cell Division)

कोशिका विभाजन(Cell Division)  हमारे शरीर में लगभग 5 हजार अरब कोशिकाएं पायी जाती है। सभी बहुकोशिकीय जीवधारियों की कोशिकाएं हर समय नष्ट होती है। कुछ टूट-फूट तथा कुछ दुर्घटनाओं के कारण। इन कोशिका विभाजन के कारण ही शरीर में वृद्धि होती है। जिस कोशिका में विभाजन होता है उसे मातृकोशा या जनन कोशा कहते हैं। Read More

Bookmark(0)

1. जीव विज्ञानः एक परिचय (Introduction)

विज्ञान की वह शाखा जिसके अन्तर्गत जीवधारियों का अध्ययन किया जाता है, जीव विज्ञान कहलाता है। अरस्तू को जीव विज्ञान का जनक कहा गया है। किसी भी वस्तु को जिसमें कुछ विशिष्ट जैविक क्रियाएँ हो रही हो उस वस्तु को सजीव कहते हैं। सजीवों में निम्नलिखित लक्षण होते हैं जिसके आधार पर हम उसे निर्जीव Read More

Bookmark(0)

मानव शरीर विज्ञान / HUMAN PHYSIOLOGY : Skeletal System कंकाल तंत्र

Our Body हमारा शारीर Our body is like a wonderful machine. As a machine has many parts, our body is made up of many parts too. The smallest unit of our body is called cell. There are millions of cells in our body. Our body is made up of a large number of cells. Group Read More

Bookmark(0)

living things

“What are living things?”. “सजीव क्या हैं?”। “Living things move, respond to stimuli, reproduce and grow, respire, and are dependent on their environment. Most living things need food, water, light, temperatures within defined limits, and oxygen.” “जीवित चीजें चलती हैं, उत्तेजनाओं पर प्रतिक्रिया करती हैं, प्रजनन करती हैं और बढ़ती हैं, प्रतिक्रिया करती हैं, और उनके वातावरण Read More

Bookmark(0)

JPSC EXAM: PRELIMS HISTORY : TRADITIONAL GOVERNANCE

A. झारखण्ड का इतिहास : स्वशासन 8×2 = 16 : (क) मुण्डा शासन व्यवस्था (दो स्तरीय व्यस्था) (1 प्रश्न) मुण्डा झारखण्ड में बसने वाली सबसे पुराणी जनजाति में से एक है | रिसा मुण्डा के नेतृत्व में लगभग 21 हजार मुण्डाओं ने झारखण्ड आये | यहाँ इन्होने जंगल को साफ कर खुटकट्टी गावं बसाए | Read More

Bookmark(0)